बालों के झड़ने के लक्षण

बालों के झड़ने के लक्षण

त्वचा की तरह, बाल भी पूरे शरीर में मौजूद रहते हैं. शरीर के अलग-अलग हिस्सों में बालों की मोटाई व घनेपन में भी भिन्नता होती है. सभी मनुष्यों में सिर के बाल सबसे ज़्यादा मोटे और घने होते हैं तथा प्रमुखता से नजर आते हैं. बालों का झड़ना केवल आपकी सिर की त्वचा को ही नहीं, बल्कि पूरे शरीर को प्रभावित करता है. इसका कारण आनुवांशिक, हारमोनल परिवर्तन, चिकित्सा दशा या औषधियों का प्रभाव हो सकता है. किसी को भी बाल झड़ने की समस्या हो सकती है. गंजेपन का मतलब है सिर से बालों का गायब होना. बालों के झड़ने का कोई उपचार लेने से पहले किसी एक्सपर्ट से बात करें तथा अपने बालों के झड़ने के कारण तथा उनके संभावित उपचार विकल्पों के बारे में जानकारी ले लें.

बालों के झड़ने के लक्षण निम्नलिखित हैं:

  • सिर में बालों का धीरे-धारे घटते जाना: यह बालों के झड़ने का सबसे आम कारण है, जो पुरूषों तथा स्त्रियों दोनों को प्रभावित करता है. पुरूषों में यह अक्सर माथे के दोनों तरफ से एक रेखा में शुरू होता है, जो कि काफी हद तक अंग्रेजी के एम अक्षण जैसा होता है. स्त्रियों में आमतौर पर माथे की हेयरलाइन घनी रहती है लेकिन बालों के बीच का हिस्सा चौड़ा हो जाता है जो कि ‘‘क्रिसमस ट्री’’ से काफी मेल खाता है.
  • चकत्तों में बालों का झड़ना: कुछ लोग अपने सिर पर सिक्के के आकार के गंजेपन के चकत्ते महसूस करते हैं जो कि आमतौर पर तब तक अनदेखे रह जाते हैं जब तक कि वे नाई के यहां जाते हैं. इस प्रकार का बालों का झड़ना भवों, बरौनियों, दाढ़ी, छाती, हाथ-परों तथा जननांगों के आसपास भी देखे जा सकते हैं. कुछ मामलें में प्रभावित त्वचा बालों के झड़ने से पहले चिपचिपी या दर्दनाक हो सकती है.
  • हल्के से छूने से गुच्छों में बालों का झड़ना: किसी शारीरिक या भावनात्मक आघात से बाल ढीले पड़ सकते हैं. कंघी करने या बालों को धोने या हल्के से सहलाने पर भी मुठ्ठी भर बाल आपके हाथ में आ सकते हैं. इस प्रकार के बालों के झड़ने में आमतौर पर सिर पर बहुत बाल रह जाते हैं, हालांकि चकत्तों में गंजेपन की स्थिति नहीं पैदा होती है.
  • पूरे शरीर से बालों का झड़ना: पूरे शरीर से बालों की प्राथमिकता क्षति को एलोपेशिया टोटानिस के रूप में जाना जाता है. कुछ चिकित्सीय उपचारों में, जैसे कि कैन्सर के लिए केमोथेरेपी से भी पूरे शरीर के बाल झड़ सकते हैं. बाद में आमतौर पर बाल फिर से उग आते हैं.
  • सिर पर रूसी या पपड़ी पड़ने या फंगल इंफेक्शन के कारण बालों का झड़ना: टिनिया बारबेई जो कि सलून में किसी रैजर के इस्तेमाल के कारण पनप कर दाढ़ी या सिर की त्वचा को प्रभावित करता है, उन हिस्सों पर बालों की क्षति पैदा कर सकता है, क्रेडल कैप एक अन्य फंगल इंफेक्शन है जो शिशुओं को प्रभावित करता है और जिसके कारण उनके बाल ठीक से नहीं उग पाते हैं या टूट जाते हैं. कई बार प्रभावित हिस्सों से रिसाव भी होता है. सिर की त्वचा पर रूसी उत्पन्न होकर त्वचा में खुश्की या स्कैल्प सोरायसिस का कारण बन सकती है जब तक प्रभावित क्षेत्र में बालों की समस्या के कारण का उपचार नहीं किया जाता, बाल ठीक से नहीं उगेंगे तथा टूटते रहेंगे.

बालों के झड़ने के उपचार के लिए बालों के झड़ने के उपचार के लिए बालों के झड़ने के प्रकार तथा कारण का निदान बहुत महत्त्वपूर्ण है. अपने बालों के झड़ने की वजह का पता लगाने के लिए हमारे विशेषज्ञों से संपर्क कीजिए और जल्द ही जल्द उसका उपचार कराइए.

Get our latest articles delivered
to your inbox
mobile

Subscribe to our blog and get our latest updates.

 
x

Consult an expert doctor now

Request a call back