त्वचा की समस्याएं? हमारे विशेषज्ञों से इलाज कराएं।

अनुभाग

सोरायसिस के लक्षण

सोरायसिस ज्यादातर मामलों में अद्वितीय होता है। लक्षण स्थान, प्रसार, गंभीरता और घावों की अवधि के अनुसार एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में भिन्न हो सकते हैं। हालांकि, ज्यादातर मामलों में निम्नलिखित में से कुछ या सभी विशेषताएं देखी जा सकती हैं:

  • त्वचा पर लाल, मोटे चकत्ते/घाव (जिसे प्लैक कहा जाता है) – ये छोटे बारिश की बूंद के आकार के घावों से लेकर बड़े एक व्यापक क्षेत्र को कवर करने तक भिन्न हो सकते हैं।
  • घाव चांदी जैसी शल्कों से ढके होते हैं।
  • खुजली घावों का एक आम लक्षण है; खुजलाने के बाद जलन हो सकती है।
  • घावों पर और उसके आसपास परेशानी या खुजली का अनुभव किया जा सकता है।
  • घाव सूखे होते हैं; हथेलियों और तलवों पर अत्यधिक सूखापन फटी त्वचा और खून बहने का कारण बन सकते हैं।
  • रोग के सक्रिय चरण के दौरान त्वचा को खुजाने या काटने से उन्हीं क्षेत्रों में नए घावों का जन्म हो सकता है (जिसे केबनर फेनोमिना कहा जाता है)।
  • नाखून मोटे, गड्ढों वाले या उभरे हुए हो सकते हैं। इनका रंग खराब हो सकता है और ये नाखूनों के नीचे के आधार से उखड़ या अलग हो सकते हैं।
  • यदि शरीर के जोड़ प्रभावित होते हैं तो उनमें सूजन और कड़ापन का अनुभव हो सकता है।
  • सोरायसिस, अपनी दीर्घकालिक प्रकृति और मरीजों के स्वरूप पर प्रभाव के कारण कई निम्नलिखित कई भावनात्मक समस्याओं को जन्म दे सकता है:
  • चिंता;
  • अवसाद;
  • क्रोध और चिड़चिड़ापन; तथा
  • शर्मिंदगी से संकोच।

उपचार का लक्ष्य सभी उपरोक्त भावनात्मक समस्याओं से निबटने को भी बनाया जाना चाहिए।

Book
your appointment with an expert

 

Kindly enter your details below. Our team shall contact you shortly.

 
close
Forgot Password
email id not registered with us
close
sms SMS - Clinic details to
invalid no
close
Thank you for registering for our newsletter.

Thank you for registering for our newsletter.

close